इतराने पर शायरी

घमंड तोड़ने वाली शायरी | Ghamand Todne Wali Shayari

घमंड तोड़ने वाली शायरी :- आज की यह पोस्ट मेरे उन Users के लिए है जिन्हे लोग या तो घमंडी समझते है या फिर उनको लोग घमंड दिखते है, तो अगर आप भी इन दोनों में से किसी भी एक  केटेगरी में आते तो यह हमारी घमंड तोड़ने वाली शायरी आप को आज खुश कर देगी और, आप चाहे तो इन शायरियों को आप आपने What’s App के Status में लगा कर उस इंसान को उसका Ghamand तोड़ सकते है।

तो चलिए फिर शुरू करते है हमारी आज की शायरी की महफ़िल

दौलत और घमंड शायरी – इतराने पर शायरी – गुरुर तोड़ने वाली शायरी – दौलत का घमंड शायरी – पैसो का घमंड शायरी – घमंडियों के लिए शायरी – अभिमान तोड़ने वाली शायरी – अहंकार पर शायरी – खूबसूरती का घमंड शायरी और स्टेटस इन हिंदी – मगरूर पर हिंदी शायरी

घमंड तोड़ने वाली शायरी इन हिंदी

ए इंसान मत कर इतना गुरुर अपनी इस हँसी सूरत पर,
यह तो उस रब की देन है जो उम्र के साथ ढल जायगी,
हाँ तेरे इस मोह का असर हो तो जायगा इंसानो पर,
लेकिन बारी जब रब से मुलाकात की आएगी,
तेरी सूरत नहीं सीरत देखी जायगी।

───── ⋆⋅☆⋅⋆ ─────

घमंड तोड़ने वाली शायरी इन हिंदी

घमंड था मुझे बहोत की तुम सिर्फ मेरे हो,
अच्छा हुआ तुमने मेरा घमंड तोड़ दिया।

───── ⋆⋅☆⋅⋆ ─────

मत गुरुर कर अपनी इस खूबसूरती पर,
हमने बाज़ारो में खूबसूरत चीजों पर बोलियां लगते देखा है।
दौलत और घमंड शायरी

───── ⋆⋅☆⋅⋆ ─────

हर एक इंसान इस घमंड में जी रहा है
की उसे किसी चीज का घमंड नहीं।

───── ⋆⋅☆⋅⋆ ─────

जिन्हे घमंड है उन्हें ज्ञान केसा,
जिन्हे ज्ञान है उन्हें घमंड केसा।

───── ⋆⋅☆⋅⋆ ─────

दौलत और घमंड शायरी

घमंड किसी का नहीं रहा,
टूटने से पहले गुल्लक को भी यही लगता था,
की सारे पैसे उसी के है।
───── ⋆⋅☆⋅⋆ ─────

इतराने पर शायरी

होने लगता है जब गुरुर, यही बात पूछ लेता हु,
मैं खुद ही खुद से खुद की औकात पूछ लेता हु।

───── ⋆⋅☆⋅⋆ ─────

जो लोग खुद में मगरूर रहते है,
हम उनसे ज़रा दूर रहते है।

───── ⋆⋅☆⋅⋆ ─────

घमंड शराब की तरह है,
जब चढ़ता है तो दूसरों को पता चल जाता है,
घमंड तोड़ने वाली शायरी

───── ⋆⋅☆⋅⋆ ─────

इतराने पर शायरी

मैं भी हूँ, यह मेरा विशवास है,
मैं ही हूँ, यह मेरा घमंड है।

───── ⋆⋅☆⋅⋆ ─────

घमंड में नहीं रहना,
आसमान से ज़मीन तक आने में वक़्त नहीं लगता।
गुरुर तोड़ने वाली शायरी

───── ⋆⋅☆⋅⋆ ─────

किस बात पर हम सब इतने घमंडी इतने अभिमानी है,
बन कर मिट जाने की हमारी बस एक छोटी सी कहानी है।

───── ⋆⋅☆⋅⋆ ─────

कहानी छोटी नहीं थी,
बस तुम्हे पन्ने पलटने की जल्दी थी।

───── ⋆⋅☆⋅⋆ ─────

घमंडी नहीं हूँ,
बस जहा दिल, नहीं करता
वहां जबरदस्ती बात करने की आदत नहीं है मेरी।

───── ⋆⋅☆⋅⋆ ─────

घमंड तोड़ने वाली शायरी फोटो

घमंड तोड़ने वाली शायरी

आज तक किसी के आगे न झुका हूँ,
और ना ही झुकना पसंद करता हूँ,
मैं झुकता बस उस रब के सामने पसंद करता हूँ।

───── ⋆⋅☆⋅⋆ ─────

हाँ हूँ में घमंडी, क्युकी मुझे
गलत लोगो की हाँ ने हाँ मिलाना नहीं आता।

───── ⋆⋅☆⋅⋆ ─────

तेरी यादें बहुत घमंडी है,
बात बात पे तेरी याद दिलाती है।
दौलत का घमंड शायरी

───── ⋆⋅☆⋅⋆ ─────

घमंड तोड़ने वाली शायरी फोटो

अगर घमंड हो रुतबे का तो आजा,
दहशत से रूबरू करा दूँ।

───── ⋆⋅☆⋅⋆ ─────

अच्छे लोग मतलबी या घमंडी नहीं होते,
बस वो वहां रहना पसंद नहीं करते,
जहाँ लोगो का मैं नहीं करता।

───── ⋆⋅☆⋅⋆ ─────

ज़िन्दगी में दो लोगो से हमेशा दूर रहना,
एक बिजी और दूसरा घमंडी,
बिजी अपनी मर्ज़ी से बात करेगा,
घमंडी अपने मतलब से।
पैसो का घमंड शायरी

───── ⋆⋅☆⋅⋆ ─────

पैसो का घमंड शायरी

जब किसी को समय दो तो,
खाली समझ लेती है,
और बिजी होकर दिखाओ तो घमंडी समझ लेती है।

───── ⋆⋅☆⋅⋆ ─────

हमारी औकात,
हा हा हा हा हा हा हा हा…
बेटा पुरे के पुरे बिक जाओगे।

घमंड तोड़ने वाली शायरी हिंदी 

───── ⋆⋅☆⋅⋆ ─────

हमें ज़्यादा बाटे करना पसंद नहीं,
बस हमारा यही मिजाज लोगो को,
घमंडी लगता है।
घमंडियों के लिए शायरी

───── ⋆⋅☆⋅⋆ ─────

घमंडियों के लिए शायरी

घमंड की दीवार लगी है,
कोई शिष्टाचार नहीं,
जो सच्चे लग रहे है तुझको,
वो तेरे सच्चे यार नहीं,

───── ⋆⋅☆⋅⋆ ─────

विरासत में मिली दौलत को यूँही उड़ा दी,
जब तक खुद बाप बने तो निवाला ना रहा खाने को।

───── ⋆⋅☆⋅⋆ ─────

यह भी पड़े :-