तुम्हारी बहुत याद आती है शायरी

तुम्हारी बहुत याद आती है शायरी | जब | आपकी | अपनों की

आज की इस पोस्ट के अंदर आपके लिए तुम्हारी बहोत याद आती है शायरी लेकर आया हूँ। जिसमे आपको बिलकुल नई और बेहतरीन तुम्हारी बहुत याद आती है शायरी | स्टेटस | और Images | देंगे ।।

याद कभी भी किसी की भी आ सकती है, लेकिन जब हम अकेले और तन्हा बैठे होते है तो हमें बस उसी इंसान की याद आती है जिसे हम हमारी ज़िन्दगी में सबसे ज़्यादा चाहते है। और वैसे भी सावन का महीना चल रहा है तो बारिश में हमें उनकी याद ना आये ऐसा हो ही नहीं सकता।

निचे हम कुछ तुम्हारी बहुत याद आती है शायरी लेकर आये है । जिसे आप अपने चाहने वाले को भेज कर के उनके प्रति अपनी भावना व्यक्त कर सकते है।

तुम्हारी बहोत याद आती है शायरी | जब याद तुम्हारी आती है शायरी | अपनों की याद शायरी | उन्हें हमारी याद नहीं आती शायरी | याद नहीं करते शायरी | याद शायरी 2 लाइन | 


तुम्हारी बहुत याद आती है शायरी

मैं इश्क़ लिखता हूँ,
तुम वफ़ा लिख देना,

मैं मना लूंगा तुमको,
तुम बस खफा लिख देना।

∘₊✧──────✧₊∘

किस हाल में है…. हमें ही हमारी कब खबर हुई है,
रूह छोड़ने के बाद कभी क्या जिस्म की कदर हुई है।

∘₊✧──────✧₊∘

सर्द मौसम गरम गरम चाय,
साथ तुम हो तो मज़ा ही आ जाये।

∘₊✧──────✧₊∘

ना चाहते हुए भी हम लिखते रहते है आपके बारे में,
आज भी सब पूछते रहते है आपके बारे में,
उन्होंने दिल तोड़ दिया फिर भी ना सोचा आपके बारे में।

∘₊✧──────✧₊∘

तेरी आवाज सुन्ना चाहती हूँ,
कैसे बताऊ तुझे कितना चाहती हूँ,

बेमकसद सी जो हो रही ज़िन्दगी
मैं तेरे साथ जी भर जीना चाहती हूँ,

तू आ मुझे थाम ले अपनी बाँहों में,
मैं सुकून ए जन्नत चाहती हूँ,

कस्मे वादे सब भूल जा अब,
मैं तुझे खुद से ज्यादा चाहती हूँ,

झाँक कर देख ज़रा आँखों में मेरी,
मैं तुझे कैसे बताऊ की तुझे कितना चाहती हूँ।

∘₊✧──────✧₊∘

यार इस बार होली पर मजे कुछ ख़ास नहीं,
रंग लगाना था तुमको, मगर तुम पास नहीं,
लेकिन तुम परेशां मत होना हम खुश है,
बस महसूस करके देखना हम उदास नहीं ।

∘₊✧──────✧₊∘

आज उनका दिया हुआ गुलाब किताब से क्या निकला,
उनकी यादों ने तो हमारे दिल में तबाही मचा दी।

∘₊✧──────✧₊∘

तुम नहीं जानती कितना खूबसूरत होता है वो पल,
जब तुम और तुम्हारी यादें महसूस होती है हमें।

∘₊✧──────✧₊∘

मैं जहाँ हूँ वह से तुम मीलो दूर हो, !
पर सुनो तुमसे ज़्यादा मेरे दिल के पास कोई नहीं।

∘₊✧──────✧₊∘

कभी बेपनाह बरसी कभी थमी सी है,
यह बारिश भी कुछ हमी सी है।

∘₊✧──────✧₊∘

काश तुझे मेरी ऐसी लत लग जाये,
जैसे मुझे चाय की लगी है।

∘₊✧──────✧₊∘

मुश्किलों सी निखरती है शख्सियत यारो,
जो पत्थरो सी ना उलझे वो झरना किस काम का।

∘₊✧──────✧₊∘

अपनों की याद शायरी

सारे सपने टूट के चूर हो गए,
तुम हम सी दूर क्या हुए,
हम मौत के कितने करीब हो गए।

∘₊✧──────✧₊∘

तुम्हारी याद आती है हमें तड़पती है,
दिल को भी खूब जलाती है, आँखों को भीगा जाती है,
जब भी तुम्हारी याद आती है।

∘₊✧──────✧₊∘

काश दिल की याद में इतना असर हो जाये,
हम याद करे उनको और उन्हें खबर हो जाये।

∘₊✧──────✧₊∘

खो गया है दिल किसी के प्यार में इतना,
की मुश्किल है जीना अब उसके बिना।

∘₊✧──────✧₊∘

तुम याद करो या भूल जाओ, ये तुम्हारी मर्ज़ी,
तुम याद थे, याद हो, याद रहोगे, यह हमारी मर्ज़ी।

∘₊✧──────✧₊∘

तुम हो तो, तुम्हारी हर ज़िद मानने को दिल करता है,
तुम हो तो मुझे फिर से प्यार प्यार करने को दिल करता है,
तुम हो तो ज़िन्दगी फिर से जीने को दिल करता है।

∘₊✧──────✧₊∘

कुछ दिन और सही, मगर जब मुलाकात होगी,
तो सबसे यादगार होगी।

∘₊✧──────✧₊∘

आज बेइंतेहा उदासियाँ मुझे घेर कर बैठी है,
काश तुम होते मुझे उनसे दूर करने के लिए।

∘₊✧──────✧₊∘

जिसके दिल में तुम होगी,
वो कही ना जा पाएगा,
रूठोगी तुम बार बार, वो तुम्हे हर बार
मानेगा।

∘₊✧──────✧₊∘

गम यह नहीं की वो मेरे नहीं है,
पर ख़ुशी इस बात की है, की वो मेरे हर हिस्से में है।

∘₊✧──────✧₊∘

तुम और तुम्हारी यादें बहुत रुलाती है।

∘₊✧──────✧₊∘

जब याद तुम्हारी आती है शायरी

तेरी आँखों में मेने जब से अपना अक्स देखा है,
मेरे चेहरे को कोई आइना अच्छा ही नहीं लगता।

∘₊✧──────✧₊∘

यादों की किताब उठा कर देखि थी मेने,
पिछले साल इस दिन तुम मेरे थे।

∘₊✧──────✧₊∘

ज़ुल्फ़े तुम्हारी हो और हसरत हमारी,
कोई एतराज तो नहीं।
ज़िन्दगी तुम्हारी हो सांस हमारी हो,
कोई एतराज तो नहीं।
सात नहीं एक ही जनम माँगा है,
बताओ कोई एतराज तो नहीं।

∘₊✧──────✧₊∘

तुमने भी रुलाने में कोई कसार नहीं छोड़ी,
हमने भी आखिर में खुद से हसना सिख लिया।

∘₊✧──────✧₊∘

एक बार चले गए तो वापस मत आना,
फिर ना वो क़दर मिलेगी और ना वो किरदार।

∘₊✧──────✧₊∘

एक बार मेरे ज़हन से नहीं जाती,
तुम्हे मेरी याद क्यों नहीं आती।

∘₊✧──────✧₊∘

ख्वाब और ख्यालो में, तुमको ही याद करते है,
हर पल में हर लम्हे में तेरा ही नाम लेते है।

∘₊✧──────✧₊∘

मेरी आँखों को पड़ लेना होंठ कायर है,
कह नहीं पाते।

∘₊✧──────✧₊∘

मेरी दिल की धड़कन आज भी तेरा नाम पुकारती है।
वजह बस एक ही है, यह तेरी याद में रुकना चाहती है।

∘₊✧──────✧₊∘

हम ताउम्र हिचकियों में गुज़र देंगे, बशर्ते तुम याद तो किया करो।

∘₊✧──────✧₊∘

जख्म वही जो छुपा दिया जाये,
जो बता दिया जाये उसे तमाशा कहते है।

∘₊✧──────✧₊∘

जब वास्ता नहीं रखना तो नज़र क्यों रखते हो,
किस हाल में हूँ ज़िंदा यह खबर क्यों रखते हो।

∘₊✧──────✧₊∘

हर रोज़ चाँद छत पर आकर इतराता बहुत था,
कल रात मेने उसे तेरी तस्वीर दिखा दी।

∘₊✧──────✧₊∘

में तेरे ज़िक्र में भी नहीं,
और तू मुझे लफ्ज़ लफ्ज़ याद है।

∘₊✧──────✧₊∘

यह भी पड़े :- 

  1. Teri Yaad Shayari In Hindi 
  2. दिल को हिला देने वाली शायरी 
  3. Meri Yaad Nahi Aati Shayari 
  4. खूबसूरत यादे शायरी
  5. घर परिवार की याद शायरी 
  6. आप की कमी शायरी इन हिंदी

Leave a Reply