तेरी ख़ुशी में मेरी ख़ुशी शायरी

aap ki khushi ke liye shayari | तेरी ख़ुशी के लिए शायरी

आज की इस पोस्ट में हम Aap ki khushi ke liye shayari लेकर आये है, इस पोस्ट में आपको सबसे अच्छी और नई नई हिंदी शायरी लेकर आये है। ज़िन्दगी में कोई न कोई इंसान ऐसा होता है जिसकी जरा सी ख़ुशी के लिए हम अपनी जान तक दाव पर लगा देते है। तो बस ऐसे ही इंसान के लिए हम तेरी ख़ुशी के लिए शायरी ले आये है।

किसी इंसान को खुश करने के लिए पेसो की ज़रूरत नहीं होती, बस चंद अल्फ़ाज़ ही अगर उसकी ख़ुशी को लेकर बोल दिए जाए तो वो इंसान हमें कभी भूल नहीं पाता। हमने ये सभी शायरियां इन सभी वर्गों के लिए लिखी है।

दोस्त की ख़ुशी के लिए शायरी | तुम्हारी ख़ुशी के लिए शायरी | तेरी ख़ुशी में मेरी ख़ुशी शायरी | 

Aap ki khushi ke liye shayari

ये यादें भी कमाल होती है,
गम में ख़ुशी लाती है, और ख़ुशी में गम।

───── ⋆⋅☆⋅⋆ ─────

वोह दूर होके भी नींद चुरा लेती है,
जब पास होगी तो जाने क्या हाल होगा।

───── ⋆⋅☆⋅⋆ ─────

बस इतनी सी बात है, तुम साथ होते हो जब मेरे,
खुश तो रहते है गम मेरे, तुम शामिल होती हो मेरी हर बात में,
ऐसे ख़ास नहीं है सब मेरे।

───── ⋆⋅☆⋅⋆ ─────

Aap ki khushi ke liye shayari

ज़िन्दगी में खुश रहने के लिए इश्क़ में रहने की आदत बना लो,
फिर वो दुसरो से हो या अपने आप से,

───── ⋆⋅☆⋅⋆ ─────

वो इस चाह में रहते है की हम उनको उनसे मांगे,
और हम इस गुरुर में रहते है की हम अपनी ही चीज़ क्यों मांगे।

───── ⋆⋅☆⋅⋆ ─────

खुश रहने की कोशिश करो दोस्त,
खुद को अकेले में क्योंकी ख़ुशी नहीं मिलती,
इस झूठ के मेले में।

Aap ki khushi ke liye shayari in hindi

───── ⋆⋅☆⋅⋆ ─────

खुश तो दो लोग एक साथ वैसे भी रह लेते है,
लेकिन मुझे तेरे साथ जी कर, तेरा दुःख बाँटना है।

───── ⋆⋅☆⋅⋆ ─────

ये सोच अगर भ्रम है मेरा तो मुझे इस भ्रम में ही जीने दो,
तू खुश है यह सोच कर मुझे खुश ही रहने दो।

───── ⋆⋅☆⋅⋆ ─────

न कोई इश्क़ है ना कोई गम,
देखो कितने खुश है हम।

───── ⋆⋅☆⋅⋆ ─────

खुले आसमान के तले जीना है,
खुलकर सांस लेना है मुझे,
और जीवन को खुश होकर जीना है मुझे।

दोस्त की ख़ुशी के लिए शायरी

───── ⋆⋅☆⋅⋆ ─────

तुम्हारे लिए का लिखू कुछ समझ नहीं आता,
बस इतना कह सकता हूँ अपने दिल से,
जब भी तुम खुश होती हो ना तो,
मेरा दिल भी खुशियों से भर जाता है।

───── ⋆⋅☆⋅⋆ ─────

हमारी खुशियों का राज़ यह है की हम खुश है ही नहीं।

───── ⋆⋅☆⋅⋆ ─────

तुम खुश हो मेरे लिए ये तासीर काफी है,
वार्ना लोगो का आना जाना तो लगा रहता है।

───── ⋆⋅☆⋅⋆ ─────

बिन बात ह रूठने की आदत है,
किसी अपने का साथ ना पाने की आदत है,
वो खुश रहे यार मेरा क्या है,
में तो आइना हूँ मुझे टूटने की आदत है।

───── ⋆⋅☆⋅⋆ ─────

किसी ने पूछा आप इतने खुश कैसे रह सकते हो,
मेने कह दिया ऐसे सवाल किसी से ना पूछ कर।

तुम्हारी ख़ुशी के लिए शायरी

───── ⋆⋅☆⋅⋆ ─────

तुम जो कहते हो…! खुश रहा करो…!
तो फिर सुन लो हमेशा मेरे पास रहा करो।

───── ⋆⋅☆⋅⋆ ─────

मेरी सांसो पर नाम बस तुम्हारा है,
मैं अगर खुश हूँ यह एहसान तुम्हारा है..!

───── ⋆⋅☆⋅⋆ ─────

तारीफ ना पूछना मुझसे उसकी,
वो मेरे अलफ़ाज़ के दायरे में सिमटी ही नहीं।

───── ⋆⋅☆⋅⋆ ─────

ज़बरदस्ती नहीं होती रिश्ते में,
तुम खुश हो तो मुकम्मल है मेरा इश्क़।

तेरी ख़ुशी में मेरी ख़ुशी शायरी

───── ⋆⋅☆⋅⋆ ─────

खुशियों ने आने में इतनी देर करदी,
की चेहरा मुस्कुराना ही भूल गया।

───── ⋆⋅☆⋅⋆ ─────

एक आग ऐसी लगी जो साडी दुनिया को जला गई,
बची तो थोड़ी खुशियां थी,
वो आज आंसू बन कर हमारी पलकों पर आ गई।

───── ⋆⋅☆⋅⋆ ─────

वो शोहरतो का शहर ढूंढ़ते रह गए,
मानिने खुशियों के मोहल्ले में बसेरा बना लिया।

───── ⋆⋅☆⋅⋆ ─────

करनी छोड़ दी हमने खुद की जासूसी,
अब क्या ख़ुशी और क्या मायूसी।

Unki khushi ke liye shayari

───── ⋆⋅☆⋅⋆ ─────

मुस्कराहट से मेरी खुशियों का अंदाज़ा ना लगाना,
बड़ी मक्कार है यह, अक्सर गम छुपाने को मेरे
चेहरे पे आ जाती है।

───── ⋆⋅☆⋅⋆ ─────

गुरुर तो ताज का भी टुटा होगा,
जब मेरा मेहबूब करीब से गुजरा होगा।

───── ⋆⋅☆⋅⋆ ─────

कबूल तेरा इश्क़ हो तो,
हर सजा जरुरी है,
तारीफों में जो बीत जाये एक शाम,
यह भी इश्क़ में ज़रूरी है।

Khushi shayari in hindi

───── ⋆⋅☆⋅⋆ ─────

यहाँ हर कोई अपनी तारीफ सुन्ना चाहता है,
पर दूसरों की तारीफ करना अक्सर भूल जाता है।

───── ⋆⋅☆⋅⋆ ─────

वह जनता तो बहुत कुछ है, मगर जताये तो जताये कैसे,
तारीफें तो बहुत करना चाहता है, मगर बताये तो बताये कैसे,
लिख देता है शायरियां खूबसूरती पर उसकी,
दिखावे के दौर में कोई छुपाये तो छुपाये कैसे।

───── ⋆⋅☆⋅⋆ ─────

तारीफों ने दिल-ए-नूर को, नूर ए गुरूर सीखा दिया,
वो मांग रही थी चाँद ज़मीं पर, बेशक हमने आइना दिखा दिया।

───── ⋆⋅☆⋅⋆ ─────

थोड़ी तारीफ क्या कर दी खुद को खुदा समझ बैठे,
थोड़ा शुक्रिया क्या अदा कर दिया तो उसे
इबादत समझ बैठे।

Khushi shayari two lines

───── ⋆⋅☆⋅⋆ ─────

कभी कभी अपनी तारीफ सुनने के लिए,
अपनी बुराई भी करनी पड़ती है।

───── ⋆⋅☆⋅⋆ ─────

उसने पूछा आपकी तारीफ…?
मैंने कहा जितनी करो उतनी कम है।

───── ⋆⋅☆⋅⋆ ─────

तेरी तारीफ में बहुत कुछ लिखा है मेने,
शब्दों को बहुत सोच समझ कर लिखा है मेने,
दुनिया हमेशा अच्छे के लिए याद करेगी तुझे,
तेरे नाम की जगह फरिश्ता लिखा है मेने।

───── ⋆⋅☆⋅⋆ ─────

उसने कहा खूबसूरत हो रही हो तुम,
मैंने कहा, मैं तो वही हूँ,
बस नज़रिया तेरे देखने का बदल गया है।

khushi par hindi status

───── ⋆⋅☆⋅⋆ ─────

न कीजिये इतनी तारीफ हमारी,
हम आपके और करीब हो जायँगे,
अगर हो गए आप हमसे कभी जुदा,
फिर ये दर्द-ए-दिल हम किसे सुनायेंगे।

───── ⋆⋅☆⋅⋆ ─────

तुम्हारी सीरत जब जब देखता हु, तो मंज़िल भूल जाता हु,
तुम्हारे हुस्न की तारीफ करने की सोचता हु,
और शब्द भूल जाता हु।

───── ⋆⋅☆⋅⋆ ─────

Aap ki khushi ke liye shayari | दोस्त की ख़ुशी के लिए शायरी | तुम्हारी ख़ुशी के लिए शायरी | तेरी ख़ुशी में मेरी ख़ुशी शायरी | Unki khushi ke liye shayari | khushi shayari in hindi | khushi shayari two lines | khushi par hindi status


यह भी पढ़िए :- 

One comment

Leave a Reply