जान से ज़्यादा बहुत सच्चा प्यार करने वाली शायरी |

ज़िन्दगी में एक ना एक शख्स ऐसा ज़रूर होता है जिसे हम जान से ज़्यादा बहुत प्यार करते है । अब वो चाहे आपकी गर्लफ्रेंड हो या फिर आपका बॉयफ्रेंड,
दोस्त हो या सहेली। प्यार तो प्यार हे चाहे जिससे हो जाये।

इसी लिए हमारी वेबसाइट में हमने आपके लिए यह पोस्ट ऐड की है। जिसे आप पढ़े और अपनी जान से भी ज़्यादा प्यार करने वाले शख्स तक इन शायरियों को पहुंचाए।


बहुत प्यार करने वाली शायरी हिंदी में

आरज़ू है अरमानो की कुछ कहो तो सही,
हसरत है कभी तुम भी हमारे खयालो में बेचैन रहो तो सही,
तड़प यह तो दिल में सुलगती है तुम भी थोड़ा सहो तो सही ।।


जितना गुस्सा मुझमे है
उससे काम नहीं रखती वो,
जितना प्यार मैं उससे करता हु,
उससे काम नहीं करती वो ।।


इतने बेवफा नहीं है की तुम्हे भूल जायँगे,
अक्सर चुप रहने वाले प्यार बहुत करते है ।।


नहीं पता मुझे क्यों तुम मेरे लिए इतने ख़ास हो,
खैर छोडो बात जो भी तुम मेरे दिल के बहुत पास हो ।।


मोहब्बत से मोहब्बत तब हुई,
जब मोहब्बत तुमसे हुई ।।
– बहुत प्यार करने वाली शायरी –


कोई गवाह नहीं हमारी मोहब्बत तुम्हारे सिवा,
सबूत चाहिए तो अपने ही दिल से पूछ लीजिये ।।


उसकी हर बात अच्छी लगती है,
बातो से वो एक दम बच्ची लगती है ।।


प्यार शुरू करने वाली शायरी

तुम मेरे बाबू मैं तुम्हारी शोना,
खाओ कसम तुम मेरे ही हो ना ।।

यह भी पढ़े :- Propose karne wali shayari


मोहब्बत पहली दूसरी या तीसरी नहीं होती,
मोहब्बत वही होती है जिसके बाद मोहब्बत नहीं होती ।।


सच्ची मोहब्बत तो कच्ची उम्र में होती है,
बाद में तो सब समझदार हो जाते हे ।।
-सच्चा प्यार करने वाली शायरी हिंदी में-


कभी इतना भी ना मुस्कुराना की नज़र लग जाये ज़माने की,
हर आँख मेरी तरह मोहब्बत की नहीं होती ।।


प्यार वो नहीं जो तुम्हे मेरा बना दे,
प्यार वो है जो तुम्हे किसी और का ना होने दे ।।


आप बस इज़्ज़त दीजिये,
मोहब्बत अपने आप हो जाती है ।।


माँ के बाद पहली मोहब्बत और आखरी चाहत जिससे हो,
बस वही हो आप ।।


लिए फिरते है टुटा दिल मोहब्बत के बाजार में,
ना जाने क्या क्या करना पड़ता है इस कम्बख्त प्यार में ।।
– pyar karne wali shayari –

यह भी पढ़े :- सच्चा प्यार करने वाली शायरी


वो चाय का दीवाना लड़का,
मैं किचन से फरार लड़की ।।


हमारे लिए वो शाम आज तक नहीं ढली जो
जो शुरू हुई थी तुम्हारे आने के इंतज़ार में ।।


जान से ज़्यादा बहुत प्यार करने वाली शायरी

याद नहीं कुछ पर याद जैसा कुछ तो है,
दरमियान तेरे मेरे प्यार नहीं, पर प्यार जैसा कुछ तो है ।।


कतराते है हम तुमसे नाराज़ होने के लिए,
बस इस दर से कहीं तुम्हे खो ना दे,
अब तो बाते भी कम करते है,
बस इसी डर से की कहीं हस्ते हस्ते रो ना दे ।।


प्यार किया था तुमने भी निभाया क्यों नहीं,
किसी और से मोहब्बत थी, तो बताया क्यों नहीं ।।
– प्यार का इजहार करने वाली शायरी – 


तू चाय सी मोहब्बत तो कर,
मैं बिस्कुट की तरह ना डूब जाऊँ तो कहना ।।


मेरे हिस्से में इतने गम आये की
खुशियों को अपने ऊपर गुरुर हो गया,
मुझे लगा की में भूल गई हूँ उसे,
इतने में आँखे भर आई और
मेरा यह वेहम भी दूर हो गया ।।


दे रहा है कोई उसके दल पे दस्तक,
पता है मुझे कौन है, कहती है मोहब्बत है उसे मुझसे,
पर पता है मुझे उसकी निगाहो में कोई और है ।।


तन्हाइयो के लम्हे अब तेरी यादों का पता पूछते है,
तुझे भूलने की बात करूँ तो यह तेरी खता पूछते है ।।


बून्द सी में…… समंदर सा इश्क़,
डूबने का दर…… और डूबना ही इश्क़ ।।
– प्यार करने वाली खतरनाक शायरी –


मोम की तरह पिघलते हुए देखा उसको,
रात की तरह बदलते हुए देखा उसको,
जाने किस गम को छिपाने की तमन्ना है उसे,
हर बात पे हँसते हुए देखा उसको ।।


सच्चा प्यार करने वाली शायरी

खुद नहीं जानती वो कितनी प्यारी है,
जान है हमारी पर जान से प्यारी है,
दूरियों के होने से कोई फरक नहीं पड़ता,
वो कल भी हमारी थी और आज भी हमारी है ।।


मेरी ज़िन्दगी मेरी जान हो तुम,
मेरे सुकून का दूसरा नाम हो तुम ।।


सारी दुनिया की ख़ुशी एक तरफ,
और तुम्हारा मुझसे मिलने आना एक तरफ ।।
– लव करने वाली शायरी – 

 


आपसे हम अनजान बन कर मिले थे,
अब आप हमारी जान बन चुके हो ।।


मोहब्बत सेहरी की आंखरी घूंठ की तरह होनी चाहिए,
जिसको पिने के बाद दूसरे की गुंजाईश ना हो ।।


मेरी किसी भी ग़ज़ल में तेरा नाम नहीं है,
तू बस दिल में हे सरेआम नहीं है ।।


 

Leave a Reply

Your email address will not be published.