desh bhakti hindi shayari poem

15 August Shayari in hindi, देश भक्ति शायरी , ( Desh Bhakti Shayari in hindi )

Desh Bhakti Shayari :- कभी ठंड मे ठिटुर के देख लेना, कभी तप्ती धूप मे तप के देख लेना, केसे होती है मुल्क कि हिफाज़त, कभी सरहद पे चल्के देख लेना,

Desh bhakti shayari / देश भक्तो के खून की धारा

Desh Bhakti Shayari
Desh Bhakti Shayari In Hindi

चलो फिर से आज वह नज़ारा याद कर ले,
शहिदोंं के दिल मे थी वो ज्वाला याद करलें,
जिसमे बहकर आज़ादी पहुंची थी किनारे पे
Desh Bhakto के खून की वो धारा याद करले ..॥

Chalo fir se aaj wo nazara yaad karle,
shahido ke dil ki me thi wo jwala yaad karle,
jisme behkar pahunchi thi aazadi kinare pe
Desh Bhakto ke khoon ki wo dhaara yaad karle…!

Desh bhakti shayari in Hindi / इश्क़ तो करता है हर कोई

desh hakti shayari and poem
Desh bhakti shayari in hindi pdf

इश्क़ तो करता हैं हर कोई
मेहबूब पे मरता हैं हर कोई,
कभी वतन को मेहबूब बना कर देखो 
तुझ पे मरेगा हर कोई….! 

Ishq to karta hai har koi
mehboob pe marta hai har koi,
kabhi vatan ko mehboob bana kar dekho
tujh pe marega har koi…!
——: wish you a very happy independence Day :——

Desh bhakti shayari in Hindi / इश्क़ तो करता है हर कोई

desh bhakti hindi shayari poem
आजदी पर शायरी देश भक्ती पर शायरी

चींंगारी आज़ादी की सुल्गी मेरे जश्न में हैं,
इंक्लाब की ज्वालएं लिपटी मेरे बदन मे है, 
मोत जहांं जन्नत हो येे बात मेरे वतन मे हैं ,
कुर्बानी का जज़्बा ज़िंदा मेरे कफन मे हैं….

Chingari aazadi ki sulgi mere jahen me hai,
inqlaab ki jwalaen lipti mere badan me hai,
mot jaha jannat ho ye baat mere vatan me hai,
kurbani ka jazba jinda mere kafan me hai…

Desh bhakti and poem / आओ देश का सम्मान करें

desh bhakti shayari walpapers
Shayari Desh Bhakti poem par

आओ देश का सम्मान करें…
शहीदों की शहादत याद करे 
एक बार फिर से राष्ट्र की कमान,
हम हिंदुस्तान अपने हाथ धरे,
आओ स्वतंत्रता दिवस दिवस का मान करेंं

Search Results

Web result

Aao desh ka samman karen
Shahido ki shahat yaad kare
ek baar fir se rashtr ki kaman
ham hindustaan apne haath dhare 
aao swantntra divas ka maan kare…

Patriotic poem in Hindi / खेलेंगे अपनी जान पर

patriotic poem in Hindi
Patriotic poem in Hindi

लहराएगा तिरंगा अब सारे आसमान पर
भारत का ही नाम होगा सबकी ज़ुबान पर
ले लेंंगे उसकी जान या खेलेंंगे अपनी जान पर 
कोई जो उठाएगा आंंख हिंदुस्तान पर  

lehrayga tiranga ab sare aasmaan par 
bharat ka hi naam hoga sabki zubaan par
le lenge uski jaan ya khelenge apni jaan par
koi jo uthayga aankh hindustan par…

1 2 3 Next

2 comments

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *