ek tarfa pyar shayari in hindi

Ek Tarfa Pyar Shayari In Hindi For New Husband & Wife

Ek Tarfa Pyar Shayri – कहते है ना की अगर प्यार करना हो तो एक तरफ़ा करना दो तरफ़ा तो व्यापर होता है । शायद आपने भी कभी एक तरफ़ा प्यार का एहसास किया होगा, शायद आपने भी अपने प्यार से मिलने के लिए इंतज़ार किया होगा। दोस्तों ज़िन्दगी में बहुत से लोग ऐसे है जिन्हे कभी प्यार हुआ ही नहीं। और अगर हुआ भी हो तो उन्होंने उसे कभी समझा ही नहीं।

एक तरफ़ा प्यार ज़िन्दगी का दिया हुआ एक ऐसा तोहफा है जो इंसान कभी नहीं भूलता। यह बाग़ में से तोड़े हुए उस फूल की तरह है जिसकी खुशबू सारी ज़िन्दगी रहती है। एक तरफ़ा प्यार का होना ज़िन्दगी में बहुत कुछ बदल देता है। इंसान उस लम्हे से कभी बहार ही नहीं आना चाहता जब उसे एक तरफ़ा प्यार हो जाता है।

तो अगर आप को भी Ek Tarfa Pyar Hua He तो निचे हमने कुछ हिंदी शायरी लिखी है जो आपको बेहद पसंद आएगी। और आप के एक तरफ़ा प्यार को ज़ाहिर करने में आपकी मदद करेगी। अगर आप को यह Ek Tarfa Pyar wali hindi Shayari पसंद आये तो इस आर्टिकल को आगे जरूर फोरवोर्ड करना।

ek tarfa pyar shayari, ek tarfa pyar status, ek tarfa mohabbat shayari, ek tarfa pyar shayri, ek tarfa pyar shayari in hindi, ek tarfa love shayari, ek tarfa shayari, ek tarfa pyar ki shayari, ek tarfa pyar shayari 2 line in hindi, ek tarfa pyar quotes in hindi, ek tarfa pyar shayri in hindi, ek tarfa pyar shayari, ek tarfa ishq shayari, ek tarfa pyar shayari 2 line, shayari ek tarfa pyar, ek tarfa pyar poetry in hindi, ek tarfa pyar sad shayari, ek tarfa mohabbat shayari in urdu, ek tarfa pyar sad shayari in hindi, ek tarfa love status, ek tarfa pyar wali shayari, ek tarfa shayari hindi, sad ek tarfa pyar shayari, shayari on ek tarfa pyar, ek tarfa hai mera pyar shayari

Ek Tarfa Pyar Shayri In Hindi For Girlfriend

भूल सा जाता हू अक्सर सब कुछ,
जब दो पल के लिए तुम नज़रे मिलाती हो,
धड़कने तो थामना चाहती है मगर,
तुम इन्हे धड़का कर चली जाती हो।


किसी में हद्द से ज़्यादा डूबोगे तो यक़ीनन टूटोगे,
चाहे बिस्कुट से पूछ लो, चाहे मोहब्बत में टूटे इंसान से।


तू गुज़रती है करीब से
यह भी किसी मुलाकात से काम नहीं मेरे लिए।


क्यों तुम कुछ नहीं कहते हो,
क्यों तुम इतना कुछ सहते हो,
क्यों तुम हर दर्द को मुस्कुरा कर भूल जाते हो,
क्यों तुम इस रिश्ते को मुहब्बत का नाम देते हो।


की उनकी यादों से बोलदे कोई  की थोड़ा फैसला रखे हमारी ख्वाबों से,
यूँ एकतरफा मोहब्बत मैं रात की नींद भी बड़ी दिलचस्प खता होती है।


ek tarfa pyar shayari

थामकर हाथ किसी और का, मेरे इश्क़ का क़त्ल करने चली थी,
मैं भी खुश होकर उसकी ख़ुशी में, अपनी बेइंतेहा मोहब्बत का अहसास करा आया।


ज़िन्दगी में अब वो वाली बात कहा है,
आज कल सुकून वाली रात कहा है,
भागते रहते है उसके पीछे जो मिल नहीं सकता,
जो है पास में उसकी किसी को परवाह कहा है।


सुनो जुदा हुए तो क्या हुआ…
ना कोई शिकवा-गिला रखना,
मोहब्बत एकतरफा मैं निभा लूंगा,
बस तुम अपना दिल भला रखना।


खामोश बैठे के अकेले मुस्कुराना,
बहोत आसान है एकतरफा इश्क़ करना।


हर एक से अपनी तारीफों की तालाब न रखना जाना,
तुम निहायती खूबसूरत महज़ मेरी निगाहों में हो।


ek tarfa pyar status

किरायदार सा था इश्क़ उसका,
कल मेरा था, आज किसी और का है।


प्यार तो एक तरफ़ा होता है,
दो तरफ़ा तो सिर्फ व्यापर होता है।


मेरे ज़हन से एक पल के लिए भी उसका ख्याल नहीं जाता,
जिसके ज़हन में एक पल के लिए भी मेरा ख्याल नहीं आता।


क्या फरक पड़ता है मेरे दिल पर हुकुमार किसकी होगी,
प्यार एकतरफा है तो ज़ाहिर है मर्ज़ी खुद पर भी नहीं होगी।


मोहब्बत हो गई आपसे, ये मेरी ख़ुशी है,
हो जायगी आपको भी, तो ये मेरी खुशनसीबी है।


ek tarfa mohabbat shayari

ज़रूरी तो नहीं हर मोहब्बत मुकम्मल हो,
सच्ची मोहब्बत तो अक्सर एक तरफ़ा ही होती है।


कितना इख़्तियार था उसे अपनी चाहत पर,
जब चाहा याद किया, जब चाहा भुला दिया,
बहुत अच्छे से जानती थी वो मुझे बहलाने के तरीके,
जब चाहा हंसा दिया, जब चाहा रुला दिया।


ये दस्तूर है शहर- ऐ -मोहब्बत का,
जिसको शिद्दत से चाहो वो कभी नहीं मिलता।


एकतरफा प्यार भी कितना बढ़िया है न दोस्तों,
ना उसके आने की ख़ुशी, ना उसके जाने का गम।


मैं लब तुम दुआ बन जाओ,
मैं शब् तुम सुबह बन जाओ।


ek tarfa pyar shayari in hindi

यह एक तरफ़ा मोहब्बत है,
कुछ लोगो के लिए यह गम और कुछ लोगो के लिए यह ताक़त है।


हर किसी से हो जाये,
ये ज़रूरी थोड़ी है,
यह इश्क़ है जनाब, जिसको तुम चाहो
वो तुम्हे चाहे यह ज़रूरी थोड़ी है।


जिसको आज हम में हज़ारो गलतिया नज़र आ रही है,
कभी उनसे ही कहा था, ” तुम जैसे भी हो मेरे हो “..


उन्होंने पूछा पसंद करने लगे हो क्या हमें ?
हमने कहा अगर बता दूँ तो हमारी हो जाओगी क्या।


ek tarfa pyar shayari 2 line in hindi

एक खूबसूरत सा रिश्ता कुछ यूँ ख़तम हो गया,
वो दोस्ती निभाती रही और मुझे इश्क़ हो गया।


तुम क्या रूत गए जैसे क़यामत हो गई,
साथ थे तो दोस्त थे, बिछड़ते ही मोहब्बत हो गई।


पलट कर हाल पूछा न उसने,
आज वो किस हक़ से शिकायत करते है,
की तुम बदल से गए हो।


चाहत अभी भी हमें उसी की है,
जिसने हमें कभी भी चाहा नहीं,
मिले उससे तो जाना हमने,
की उसने हमें कभी अपना माना ही नहीं।


हम तो हारे हे  उसकी ख़ामोशी से,
बेहेस होती तो शायद जीत जाते।


ek tarfa pyar shayri in hindi

बस उस शख्स की एक ना ने सब कुछ ख़तम कर दिया था,
वार्ना पूरी एक किताब लिखी जाती मेरी और उसकी मोहब्बत की।


जिसका मेरे दिल पे राज है,
तेरे सिवा ऐसी कोई सूरत ही नहीं,
यह अलग बात है की तुझे मेरी ज़रूरत नहीं।


हालत क्या यह तेरे बिछड़ने से हो गए,
लगता है जैसे हम किसी मेले में खो गए।


उस बेखबर को क्या खबर की उसकी
हस्ती तस्वीर को देखके दिल कितना रोया है।


बाद मरने के मेरे जो तुम कहानी लिखना,
उस किताब का नाम बर्बाद जवानी लिखना।


एक तरफ़ा प्यार की ताकत यह है की की इस्पे केवल,
आपका अधिकार है।


ek tarfa pyar poetry in hindi

मैंने कहा मुझे बात नहीं करनी,
उसने पूछा भी नहीं हुआ क्या है,
और वो जब कभी भी परेशां हुआ,
चेहरा मेरा देख कर लोगो ने पूछा
आखिर हुआ क्या है।


इश्क़, मोहब्बत, दिल्लगी, सब दिखावे है,
टूट जाते है एक झटके में, जैसे कच्ची डोरियों के धागे है।


इधर हाई उधर बाय,
आपकी वफाये आये हाय।


अरे तुम जो अपनी उसे दिल की बात बोलने से दर रहे हो,
उसकी आँखों में एक मर्तबा देख, शब्दों की ज़रूरत नहीं होगी।


किसी ने भेज कर कागज की कश्ती,
समंदर पार बुलाया हे मुझको।


मुझे जानते हुए भी तुम ऐसी सजा दे गई हो,
ना जी रहा हूँ ना मर रहा हूँ,
यह किसी दुआ दे गई हो।


गर इश्क़ हैं अपने ख्वाबो से तो अपने ख्वाबो को
गले लगाया करो,
जब नींद ना आये रातो में तो,
दिन में ही सो जाया करो।


ek tarfa pyar wali shayari

जिनको मेरी गलत बात भी अच्छी लगी थी,
आज उनको मेरी सही बात भी बुरी लग गई।


भले ही मोहब्बत में हार गया,
लेकिन में मोहब्बत करने में बड़ा मज़ा आया।


मैं इश्क़ इ सफर में चलता रहा,
वो साथ ना होते हुए भी मेरे साथ रहा,
इस मतलबी दुनिया में एक तरफ़ा प्यार का
सफर ही अच्छा रहा।


वो रिश्ता मेरे लिए 2 का पहाड़ा
और उसके लिए 17 का हो गया,
मुझसे भुलाया नहीं जा रहा,
और उसे याद दिलाना पड़ रहा हैं।


मन करने पर ही बात करती हैं,
मेरी नाराजगी अभी जारी हैं,
और पूरी बात सुने बिना,
दूर चले जाना उसकी पुरानी बीमारी हैं।


खामोश रहना ही बेहतर हैं,
बात तो वैसे भी कोई नहीं समझता।


वो नखरे वाली हर बात पे गुस्सा,
वो करती बड़े बवाल हैं,
तुम खुद ही लड़कर थक जाओगे उससे,
वो लड़की नहीं बवाल हैं।


ek tarfa hai mera pyar shayari

ना भेजो हिचकियो को मोहब्बत का पैगाम लेकर,
हमें और भी काम हैं तुम्हे याद करने के सिवा।


उसे खोना मंज़ूर नहीं मुझे,
इसलिए उसे पाने की कोशिश भी नहीं करता।


अब तो दिन रात पे आके रुकता हैं,
मुझे याद हैं पहले शाम हुआ करती थी।


सुना हैं लोग तुम्हे आँखे भर के देखते हैं,
चलो तुम्हारे शहर में कुछ दिन आँखे भर के देखते हैं।


मुझे ख्याल हैं उसकी हर ख़ुशी का, फिर क्यों मेरी उदासी की
खबर उसको नहीं,
यह रिश्ता हमेशा एक तरफ़ा ही रहेगा
ज़रूरत मुझे उसकी हैं
मेरी उसे नहीं।


shayari on ek tarfa pya

खुद का दायरा तोड़ के प्यार करने लगे हैं तुमसे,
बस अब जो तुम्हे अच्छा लगे वो करो।


इस दिल की ज़िद हो तुम,
वरना इन आँखों ने तो बहुत चेहरे देखे हैं।


खामोशियाँ बोल देती हैं जिसकी बाते नहीं होती
प्यार उसे भी होता हैं जिनकी मुलाकाते नहीं होती।


अकेलेपन में ही सुकून हैं,
चार लोगो के बिच तो खुद से ही नफरत होने लगती हैं।


इन तन्हाइयो में मेरा दिल तेरे लिए ही क्यों मचलता हैं,
जब तुमने थम लिया हैं किसी और का हाथ,
तो फिर हर पल बात मुझ से क्यों करता हैं।


मोहब्बत का इज़हार करके,
हम उन्हें अपनी याद दे आये,
समेत के उसकी एक तस्वीर साथ अपने
उसकी याद ले आये।


मुझे एक ऐसा गुनाह करना हैं,
जिसकी सजा सिर्फ तुम हो।


यह भी पड़े :-

One comment

Comments are closed.