प्यार भरी फनी गुड मॉर्निंग लव शायरी हिंदी फॉर गर्लफ्रेंड ||

प्यार भरी फनी गुड मॉर्निंग लव शायरी हिंदी फॉर गर्लफ्रेंड

किसी में हद्द से ज्यादा डूबोगे तो यक़ीनन टूटोगे।
चाहे बिस्कुट से पूछ लो या फिर
प्यार में दुबे इंसान से।


भूल सा जाता हूँ सब कुछ,
जब तुम पल भर के लिए नज़रे मिलती हो,
धड़कने तो थमना चाहती है मगर,
तुम इन्हे धड़का कर चली जाती हो।


सोच याद ना करके थोड़ा तड़पाऊं उनको,
किसी और का नाम लेकर जलाऊं उनको,
पर चोंट लगेगी उनको तो दर्द तो मुझे ही होगा ना,
अब यह बताओ किस तरह सताऊं उनको।


आशिक़ के नाम से सभी जानते है इतना बदनाम हो गए हम मयखाने में,
जब भी तेरी याद आती है बेदर्द, मुझे तो पीते है दर्द हम पैमाने में।


उनकी रूठी ख़ामोशी से अच्छा, उनका वो गुस्सा होना हमें अच्छा लगता है,
काम से काम उनकी मीठी बोली तो सुन पाते है।


इस ख्वाब है की मैं भी उनको अपनी पहली मुलाकात पर,
फूलों से सजा गुलदस्ता दूँ,
जिसमे चमक उन फूलों की हो,
पर महक मेरे अरमानो को हो,
खुशबु मेरी सादगी को हो।


प्यार भरी फनी शायरी

मुद्दतो से मेने तुम्हे देखा नहीं,
ख्वाबो से कभी तुम्हे हटाया नहीं,
आज भी याद करता हु वो हर लम्हे,
जब डायरी के पन्नो में लिखता हूँ तुम्हे।


कोई ख्याल उनका या कोई ख्वाब उनका,
जब से नहीं है ज़िन्दगी में, बड़ा आराम सा है।


मुलाकात तो होती नहीं,
आँखे बंद कर महसूस कर लेते है।


आँखे बंद कर के तुम्हे महसूस करने के सिवा,
मेरे पास तुमसे मिलने का कोई दूसरा रास्ता नहीं।


आप तो मोहब्बत कीजिये,
नाराज़ तो हमसे ज़माना रहता है।


कोई हमें लाख बुरा कहे फरक नहीं पड़ता,
बस खुदा की नज़रों में सही रहे इतना काफी है।


फनी गुड मॉर्निंग शायरी

आइना साफ़ रखो तब सूरत साफ़ दिखाई देगी,
नियत साफ़ रखो तब ज़माने में पहचान दिखाई देगी।


इतनी इनायत भी मत करना सनम,
कि तुम्हारे सितम का दर सताने लगे।


क्या तुमने कभी सोचा है की
ज्यादा सोचने से सुलझी हुई ज़िन्दगी भी
उलझन में पड़ जाती है।


कभी चाय की चाहत में कभी कोफ़ी की राहत में
आप कसीदे गढ़ते रहे,
हम बेबस थे आपसे दो घडी बातो को तरसते रहे।


एक पल देखलू उसे तो ऐसा खुमार हो जाता है,
बारिश में भीगती है वो बुखार मुझे हो जाता है ।।


लव शायरी हिंदी फॉर गर्लफ्रेंड

देखो यारों सुभह हो गई,
ढल गया फलक का “चाँद
सुबह के देखो 8:00 बज गए
पर अब तक सोया है मेरा “चाँद


सब कुछ तो यही छोड़ जाना है…
फिर तू क्यों दिन रात जागता है,
ये आत्मसंतुष्टि की बात है साहब,
गरीब हँसता है और आमिर रोता है।


जो तू ना मेरे पास,
तो कुछ न मेरे पास,
तेरे बिना हर रात उदास,
ओर हर सुबह निराश ।


सुभह में जब नींद खुली और जब,
हुआ तारो तजा में,
जिम्मेदारिओं का बोझ उठा कर,
खुद को छोड़ भागा है।


सुभह की नई किरणों का खुद पर तुम एहसास करो,
क्यों मुरझाये गुमसुम से हो,
अब तो नई से मुस्कान भरो।


प्यार में खुद को हारने वाला,
अब तो सिर्फ हाथ मलता है,
इतनी प्यारी सुप्रभात में,
तेरा ना होना बेहद खलता है।


गुड मॉर्निंग लव शायरी हिंदी

आज नई सुबह में पुरानी बंदिशों को भूल जाओ,
नए रस्ते नए मंजिलो चुनो,
आज फिर से नए सपने सजाओ।


सुप्रभाति सूरज की लाली,
जैसी न्यारी सी है,
मेरी मेहबूबा की मुस्कराहट ऐसी प्यारी सी है।


सुप्रभात के सपनो को साँझ में टूटते देखा है,
गिरगिट की बात पुरानी है,
मेने इंसानो को रंग बदलते देखा है।


वही होगा यहाँ हो होकर रहना है,
किस्मत के आगे तो सब कुछ बोना है,
जिंदगी की यही रीत है प्यारो,
कुछ पाकर खुश होना होना है,
कुछ खोकर रोना है ।।


यह भी पड़े :-

One comment

Comments are closed.