काश कोई अपना होता शायरी

kaash koi mujhko samajh pata shayari | काश कोई मुझको समझ पाता शायरी

Kaash koi mujhko samajh pata shayari: हैलो दोस्तो तो केसे है आप सभी उम्मीद है बढ़िया होंगे दोस्तो आज का यह आर्टिकल आप सभी को बेहद पसंद आने वाला है क्यूंकि आज की यह शायरी काश मुझको कोई समझ पाता शायरी होने वाली है जो आपके दिल को छू जायेगी।

दोस्तो हम जानते है की लोग वो नही देखते की आप क्या कर रहे हे किस वजह से कर रहे है क्यू कर रहे है उनको तो बस सलाह देना, कमी निकालना, और आपको हर चीज में टोकना जी हा दोस्तो

हम कुछ भी करे लेकिन कोई हमको नहीं समझ सकता की हम क्यों और क्या करने जा रहे है कोई हमको नहीं समझ सकता ना हमारे दोस्त, ना हमारा प्यार, और न ही हमारे चाहने वाले, और ना ही हम उनको समझा सकते है।

दोस्तो जब हम किसी का भला करने जा रहे होते है और सामने वाले को वह पता न हो और अच्छा न लगे तो हमारे दिल के ख्याल आता है की काश कोई मुझको समझ सकता और हम मायूस होकर वहा से चले जाते है। तो दोस्तो आप मायूस न होए आपकी इस मायूसी को दूर करने के लिए rahatindorishayari.com लेकर आया है काश तुम समझ पते शायरी तो चलिए दोस्तो शुरू करते है

Kash Shayari In Hindi, Kash Shayari 2 Line, Kash Status In Hindi, Kash Status 2 Line, kaash koi mujhko samajh pata shayari, काश कोई मुझको समझ पाता शायरी, काश कोई अपना होता बिना किसी मतलब के शायरी, काश कोई अपना होता शायरी, काश यादो में जान होती शायरी, काश तुम समझ पाते शायरी


Kaash koi mujhko samajh pata shayari| काश कोई मुझको समझ पता शायरी

Kaash koi mujhko samajh pata shayari

Kash aap samajh pati mere un,
WhatsApp status ke piche ki feeling,
jinme na aapka naam tha na koi caption,
thi to bas fellings.

काश आप समझ पाती मेरे उन,
व्हाट्सएप स्टेटस के पीछे की फीलिंग,
जिनमें ना आपका नाम था ना कोई कैप्शन,
थी तो बस फीलिंग्स !!


Kaash Aisa Ho Ki Tumko Tumse Chura Lun,
Wagt Ko Rok Kar Wagt Se Ek Din Chura Lun,
Turn Paas Ho To Is Raat Se Ek Raat Chura Lun,
Tum Saath Ho To Is Jahan Se Ye Jahan Chura Lun.

काश ऐसा हो कि तुमको तुमसे चुरा लूं,
वक्त को रोक कर वक्त से एक दिन चुरा लूं,
तुम पास हो तो इस रात से एक रात चुरा लूं,
तुम साथ हो तो इस जहां से यह जहां चुरा लो।

यह भी पढ़े :- आप का दीदार शायरी


Kaash Humein Bhi Koi Samjhane Wala Hota,
To Aaj Hum Itne Nasamjh Na Hote,
Kaash Koi Ishq Ka Jaam Pilane Wala Hota,
To Aaj Hum Bhi Is Sharab Ke Deewane Na Hote.

काश हमे भी कोई समझने वाला होता,
तो आज हम इतने ना समझ न होते,
काश कोई इश्क का जाम पिलाने वाला होता,
तो आज हम भी इस शराब के दीवाने न होते।


Utra Hai Mere Dil Me Koi Chand Nagar Se,
Ab Khauf Na Koi Andhero Ke Safar Me,
Wo Baat Hai Tujhme Koi Tujhsa Nahi Hai,
Kaash… Koi Dekhe Tujhe Meri Najar Se.

उतरा है मेरे दिल में कोई चाँद नगर से,
अब खौफ ना कोई अंधेरों के सफ़र में,
वो बात है तुझ में कोई तुझ सा नहीं है,
काश कोई देखे तुझे मेरी नज़र से।


काश कोई अपना होता बिना किसी मतलब के शायरी

काश कोई अपना होता बिना किसी मतलब के शायरी

Aasu Aa Jate Hain Rone Se Pahle,
Khwab Toot Jate Hain Sone Se Pehle,
Log Kehte Hain Mohobbat Gunaah Hai,
Kaash Koi Rok Leta Ise Hone Se Pahle.

आँसू आ जाते हैं रोने से पहले,
ख्वाब टूट जाते हैं सोने से पहले,
लोग कहते हैं मोहब्बत गुनाह है,
काश कोई रोक लेता इसे होने से पहले।

यह भी पढ़े :- गुलाब सा चेहरा शायरी


Kaash ek khwaahish poori ho,
ibaadat ke bagair,
Tum aakar gale laga lo mujhe,
meri izazat ke bagair,

काश एक ख्वाहिश पूरी हो इबादत के बगैर
तुम आकर गले लगा लो मुझे मेरी इजाजत के बगैर।


Kaash Tu Samajh Sakti
Mohobbat Ke Usoolo Ko,
Kisi Ki Saanso Me Samakar
Use Tanha Nahi Karte.

काश तू समझ सकती
मोहब्बत के उसूलो को,
किसी की साँसों में समाकर
उसे तन्हा नहीं करते।


Kitne Aasu Baha Diye Hain
Iss Char Din Ki Mohobbat Mein,
Kaash… Sajde Mein Bahate
To Aaj Gunaho Se Paak Hote.

कितने आँसू बहा दिए हैं
इस चार दिन की मोहब्बत में,
काश… सजदे में बहाते
तो आज गुनाहों से पाक होते।


Wo roz dekhta hai,
doobte suraj ko iss tarah,
Kaash main bhi kisi,
shaam ka manzar hota,

वो रोज देखता है डूबते सूरज को इस तरह,
काश मैं भी किसी शाम का मंजर होता


Kash Shayari 2 Line

Kash Shayari 2 Line

Kaash unko kabhi fursat,
mein ye khayal aaye,
Ki koi yaad karta hai ,
unhein zindagi samjhkar,

काश उनको कभी फुर्सत में यह ख्याल आए,
कि कोई याद करता है उन्हें जिंदगी समझकर।

यह भी पढ़े :- आई हेट माय लाइफ शायरी


Kaash ke tum samajh paao,
meri chahat ki inteha ko,
Hairan reh jaoge tum,
apni khush naseebi par,

काश कि तुम समझ पाओ,
मेरी चाहत की इंतिहा को,
हैरान रह जाओगे तुम,
अपनी खुश नसीबी पर।


Kaash hume beparwah,
rehna sikhaye koi,
Hum thak gaye hain,
parwah karte karte,

काश हमें बेपर्भा रहना सिखाए कोई,
हम थक गए हैं परवाह करते-करते।


Kaash aa jaye wo mujhe,
jaan se guzarte dekhe,
Khwaish thi kabhi,
mujh bikharte dekhe,

काश आ जाए वो मुझे जान से गुजरते देख,
ख्वाहिश थी कभी मुझे बिखरते देखें।


Dil-e-gumrah ko kaash,
ye maloom hota,
Pyar tab tak haseen hai,
jab tak nahi hota,

दिल एक गुमराह को काश यह मालूम होता,
प्यार तब तक हसीन है जब तक नहीं होता।


Kash Status In Hindi

Kash Status In Hindi

Nahi basti kisi aur ki surat,
ab in aankhon mein,
Kaash ki humne tujhe,
itne gaur se na dekha hota.

नहीं बस्ती किसी और की सूरत अब इन आंखों में,
काश कि हमने तुझे इतने गौर से ना देखा होता।


Kaash aasuon ke saath,
yaadein bhi beh jati,
To ek din tasalli se,
baith kar ro lete

काश आंसू के साथ यादें भी बह जाती,
तो एक दिन तसल्ली से बैठ कर रो लेते।


Kaash dil ki aawaz me,
itna asar ho jaaye,
Hum yaad karein unko,
aur unhein khabar ho jaye

काश दिल की आवाज में इतना असर हो जाए,
हम याद करें उनको और उन्हें खबर हो जाए।


Kaash Yeh Dil Apne Bas Mein Hota,
Na kisi Ki Yaad Aati Na Kisi Se Pyaar Hota…!!

काश यह दिल अपने बस में होता,
ना किसी की याद आती ना किसी से प्यार होता।


Kaash wo bhi aakar hum se,
kehte main bhi tanha hoon,
Tere bin, teri tarah, teri kasam, tere liye,

काश वह भी आकर हमसे कहते हैं मैं भी तनहा हूं,
तेरे बिन तेरी तरह तेरी कसम तेरे लिए।


काश कोई अपना होता शायरी

काश कोई अपना होता शायरी

 

Uski hasrat ko mere dil me likhne wale,
Kaash use bhi mere naseeb me likha hota,

उसकी हसरत को मेरे दिल में लिखने वाले,
काश उसे भी मेरे नसीब में लिखा होता।


Kaash tu bhi ban jaye teri yaadon ki tarah,
Na waqt dekhe na bahana bas chali aaye,

काश तू भी बन जाए तेरी यादों की तरह,
ना वक़्त देखे ना बहाना बस चली आए।


Kash Ye Hota Kash Vo Hota,
Kash Na Huyi Hoti Mohabbat Kash Yu Dil Na Toota Hota.

काश ये होता काश वो होता,
काश न हुई होती मोहब्बत काश यूँ दिल न टूटा होता.


काश कोई अपना होता शायरी

काश कोई अपना होता शायरी

Kash Ki Vo Laut Ke Aaye Mujhase Ye Kahne,
Ki Tum Kaun Hote Ho Mujhase Bichadne Vale.

काश कि वो लौट के आयें मुझसे ये कहने,
कि तुम कौन होते हो मुझसे बिछड़ने वाले.


Kash Ki Dil Par Apna Ikhtiyar Hota,
Na Nafrat Hoti Na Pyar Hota.

काश कि दिल पर अपना अख्तियार होता,
ना नफरत होती ना प्यार होता.