kabhi kisi par vishwas mat karna shayari

kabhi kisi par vishwas mat karna shayari

kabhi kisi par vishwas mat karna shayari – क्या आपने कभी किसी पर अपनी जान से भी ज़्यादा विश्वास किया है, क्या आपने खुद से भी भड़कर कभी किसी शख्स पर भरोसा किया है, और फिर ऐसा हुआ है की उस इंसान ने आपके विश्वास को तोड़ कर चूर चूर कर दिया हो, और अब आपका भरोसा पूरी तरह से टूट चूका हो और इंसानियत पर से पूरी तरह से विश्वास उठ गया हो। दोस्तों ऐसा ज़िन्दगी में हर इंसान के साथ हुआ होता है।

चाहे वो आपका लवर हो या फिर आपका दोस्त या फिर आपके बहुत ही करीबी रिश्तेदार हो जब किसी को विश्वास तोडना होता है तो वो फिर हमारा दिल नहीं देखते और बस हमें छोड़ कर या फिर धोखा दे जाते है।

दोस्तों मेने इसी kabhi kisi par vishwas mat karna shayari के ऊपर निचे कुछ बहोत ही बेहतरीन और यूनिक हिंदी शायरी लिखी है जो आपको बहोत पसंद आएगी। अगर आपको हमारी यह पोस्ट पसंद आये तो नीचे कमेंट कर के हमें जरूर बताये।

विश्वास पर धोखा शायरी, kabhi kisi par vishwas mat karna shayari, विश्वास शायरी, vishwas shayari, विश्वास में धोखा देने वाली शायरी, इंसान पर विश्वास शायरी, विश्वास पर शायरी, कुमार विश्वास शायरी हिंदी, विश्वास स्टेटस, कुमार विश्वास की शायरी, विश्वास पर स्टेटस, कुमार विश्वास शायरी हिंदी love, shayari vishvas, विश्वास घात स्टेटस, विश्वास की शायरी, कुमार विश्वास की राजनीति शायरी, विश्वास में धोखा शायरी, कुमार विश्वास की शेरो शायरी

ज़िन्दगी ने इतना तो सीखा दिया है की,
विश्वास को भी परख कर किसी पर विश्वास  करना चाहिए।


यह लेहरो जिस नज़ाकत से यह पेरो को छूती है ना,
विश्वास नहीं होता की इन्होने ने भी कश्तिया डुबोई होंगी।


सवालों की गुंजाईश उस रिश्ते में होती है,
जिस रिश्ते में विश्वास की कमी होती है ।


जिन रिश्तो में सफाई देनी पड़े,
उन रिश्तो को तोड़ देना ही बेहतर है।


कर्मो पर विश्वास रख, नसीब से मत डर,
जैसे बीज बोएगा वैसे पाएगा फल,
कर्मो का हिसाब होगा आज नहीं तो कल,
अच्छे कर्म करले बन्दे, किस्मत होगी तभी उज्वल।


वो कहते थे की कभी किसी पे भरोसा मत करना,
ये भरोसा दिलाने के लिए आज उन्होंने ही यह बात साबित कर दी।


विश्वास पर धोखा शायरी

सारी रात तकलीफ देता रहा यही एक सवाल हमें,
वफ़ा करने वाले हमेशा अकेले क्यों रह जाते है।


रिश्तो में विश्वास होना चाहिए मुरशद,
शक तो कोई भी कर लेता है।


लोग कहते है की दिल टूटने से ज़्यादा दर्द होता है,
जनाब लगता है की कभी विश्वास नहीं टुटा आपका।


विश्वास उसी पे करो, जो आपके विश्वास के काबिल हो,
बाकि हर किसी पे भरोसा करोगे तो, किसी और पे
विश्वास करने लायक नहीं रहोगे।


बेशक किसी को माफ़ बार बार करो,
लेकिन उस पर विश्वास एक ही बार करो।


ज़िन्दगी का सबसे ज़ोरदार थप्पड़ भरोसा मरता है।


तुम ज़रा नज़रअंदाज़ कर के तो देखो,
हम तुम्हे पहचानने से ही इंकार कर देंगे।


भरोसा करो लेकिन कभी किसी के
भरोसे मत बैठो।


विश्वास में धोखा देने वाली शायरी

इश्क़ बुरा नहीं होता,
पर इंसान का कुछ भरोसा नहीं।


फ़क़त बस इतनी सी कमी थी मुझमे,
मैंने खुद से ज़्यादा तुम पर भरोसा किया।


इंसान को अपनी औकात तब पता चलती है
जब उसे वह से ठोकर लगती है जहाँ उसे सबसे ज़्यादा विश्वास होता है।


मसला कुछ और ही था,
हम उसे प्यार समझ बैठे,
दिल के दुश्मन को ही हम,
दिलदार समझ बैठे।


जहाँ मुझे प्यार मिला,
वहां विश्वास ने साथ छोड़ दिया।


सबक मिलता है जो हादसों से, और टूटते ख्वाबो से,
सबक मिलता नहीं वो ज़िन्दगी की कुछ किताबो से ।


Trust Shayari in hindi

यहाँ मज़बूत से मज़बूत लोहा टूट जाता है,
अगर विरोधी के साथ बोले कोई अपना भी
झूठ तो अच्छे से अच्छा आदमी भी टूट जाता है।


दर्द उस वक़्त नहीं होता जब लोग छोड़ देते है,
दर्द उस वक़्त होता है, जब लोग विशवास तोड़ देते है।


सीखा दिया दुनिया ने अपने पर भी शक करना,
वरना फितरत में तो गैरों पर भी भरोसा करना था।


इतनी ठोकरे देने के लिए शुक्रिया ज़िन्दगी,
चलने का ना सही सँभालने का हुनर तो आ ही गया।


वो इतनी मासूमियत से मुझ से बाते करती है के
में उस पर भरोसा करने लग जाता हूँ,
फिर वो इतनी मासूमियत से मेरा विश्वास तोड़ देती है,
की में अपनी ही मासूमियत पर रोने लग जाता हूँ।


विश्वास घात स्टेटस

लाख दामन बचाये हमने गैरों से,
जब मुड़ कर देखा तो अपनों के हाथ ही
कीचड़ से सने मिले ।


इस तरह से जी रहा हूँ ज़िन्दगी की खुद पर ही विशवास नहीं होता,
ऐसे दफ्तर में लगी है नौकरी जहाँ कभी कोई अवकाश नहीं होता।


गहरा घाव दिल का था,
जिसने दिया वो अपना था,
टुटा हर एक सपना था,
रूठा हमसे कोई हमारा अपना था ।।


अब दर लगता है लोगो के प्यार और भरोसे से,
क्योकि अक्सर लोग वहीँ से फरेब की शुरुआत करते है।


उसे लगता है की टूट गया हूँ मैं,
फ़क़त क्या बेवकूफी हो गई है,
बल्कि मैं तो सम्भला हूँ,
विशवास करने से पहले परखने लगा हूँ।


जब समझने वाले ना हो तो खामोश रहना ही बेहतर है।


विश्वास शब्द में विष भी है और आस भी है,
यह हमारे ऊपर है की हम किसे चुनते है।


जहाँ शक होता है वहां विश्वास नहीं होता,
जहाँ विश्वास होता है वहां शक नहीं होता।


दिल तोड़ती तो मान लेता की कोई मजबूरी थी,
लेकिन तुमने तो मेरा विश्वास ही तोड़ दिया।


यदि दिल ना लगे जिससे वो किरदार मत होना,
यदि दुनिया ना समझे तो कभी उदास मत होना,
जो तेरा है वो एक दिन तेरा हो ही जायगा,
महज दुनिया के खातिर तुम कभी निराश मत होना।


विश्वास टूटने पर शायरी

एक सीख मुझे तू भी देकर गया है,
अब में हर किसी की बातो में नहीं आता।


झूठ इतने सुनहरे थे की,
सच पर विश्वास ही नहीं हो पा रहा।


खुद पर विश्वास करोगे तो कुछ बड़ा करोगे,
दुसरो पर विश्वास करोगे तो जमी पर मुँह के बल गिरोगे।


इश्क़ किया है तो विश्वास रखो,
अपनी यह कसम अपने पास रखो ।।


यूँ तो हर गुनाह का कफ़्फ़ारा नहीं होता,
उठ जाये जो एक दफा भरोसा, दुबारा नहीं होता।


वह रिश्ता रिश्ता नहीं जहाँ हर घडी अपने पन की गवाही देनी पड़े,
वह विश्वास विश्वास नहीं जहाँ हर बात की सफाई देनी पड़े।


हमें यक़ीन था तुम्हारी बातो पर,
आँखे बंद कर के मान लिया करते थे कहना तुम्हारा,
फिर क्यों बेपरवाह हो,
एक पल में ही तोड़ दिया तुमने विश्वास हमारा।


प्यार में विशवास की शायरी

पहले तसल्ली कर लो की,
की वफादार कौन है,
वक़्त तो बता ही देगा की गद्दार कौन है।


धूं धूं जलता रहा उस रात मैं,
और वो हाथ सकते रहे मेरे जज़्बातो से।


हट जायँगे सारे नकाब रिश्तेदारों के चेहरों से,
बस आदमी को सलीके से बीमार हो जाने दो।


यह भी पढ़े :

Leave a Reply Cancel reply

Your email address will not be published.