रियल लाइफ स्ट्रगल कोट्स हिंदी में [2022]

हमारी ज़िन्दगी परेशानियों से भरी हुई है इसमें उतार चढ़ाव तो लगा रहता है लेकिन जीत के लिए संघर्ष भी जरुरी है साथ में लगातार आगे रहते रहना भी हे, हमारी आज की यह पोस्ट भी रियाल लाइफ स्ट्रगल कोट्स पर ही लिखी गई हे । इन गोल्डन कोट्स की मदद आप अपना मनोबल बाकि लोगो से थोड़ा ऊँचा कर सकते है और अपने आप को बाकि लोगो से अलग भी।

दोस्तों ज़िन्दगी में कामयाबी मिलना कोई ज़्यादा मुश्किल काम नहीं हे लेकिन कामयाबी का असली मज़ा उसे ही आता हे जिसने इसे अपनी मेहनत से कमाया होगा । इस लिए दोस्तों आप सब भी कामयाबी पर फोकस करिये और अपने आप को एक मज़बूर नई स्वं निर्भर इंसान बनाइये।

निचे दिए गए कोट्स को अपने दोस्तों के साथ शेयर करना ना भूले ।।

kamyabi shayari in hindi, shayari kamyabi, kamyabi quotes in hindi, shayari on kamyabi, kamyabi ke liye shayari, kamyabi hindi shayari, kamyabi ka status, Real ife strugle quotes, रियाल लाइफ स्ट्रगल कोट्स, कोट्स इन हिंदी फॉर लाइफ, गोल्डन कोट्स इन हिंदी, सक्सेस कोट्स, लाइफ कोट्स इन हिंदी इमेजेज ।


रियाल लाइफ स्ट्रगल कोट्स

इस मुख़्तसर सी ज़िन्दगी में ख्वाहिश हज़ार है,
मुकम्मल हो या ना हो मगर कोशिश बरकार है ।।


अकेला थोड़ी हूँ में,
मुश्किलें हे ना मेरे साथ ।।


मंज़िलो से  कह दो
थोड़ी देर से पहुंचेंगे हम उन तक,
सफर जो खुद से तय कर रहे है ।।


दौर अभी संघर्षो का चल रहा है,
एक दिन कामयाबी की कहानी भी लिखेंगे ।।


लोग देते है मशवरे तो ताना सा लगता है,
अब तो ख़ुशी भी मिले तो गम का बहाना सा लगता है ।।


आज स्ट्रगल कर रहे है तो अकेले है,
कल जब सक्सेस मिलेगी तो सब साथ होंगे ।।


ज़िन्दगी से कभी हारना नहीं,
अगर गिर जाओ तो कभी घबराना नहीं,
उठ खड़े होना मुस्कुरा कर,
लेकिन कभी रुक जाना नहीं ।।


ज़िन्दगी सवारने को तो ज़िन्दगी पड़ी है,
वो लम्हा सवार लो जहाँ ज़िन्दगी पड़ी है ।।


लाइफ कोट्स इन हिंदी इमेजेज

शिकायते तो तुझ से अब उतनी ही है ज़िन्दगी,
पर सवाल अब भी वही है “आखिर में ही क्यों” ।।


औरो में खुद को खो के,
मैं को पाना, बहुत बड़ा काम है ।।


जिनके हौसले बड़े होते है,
उनको रातो को जागना पड़ता है,
थकान पेरो में हो तो होसलो को भागना पड़ता है ।।


बारिश में रख दूँ ज़िन्दगी को,
ताकि धूल जाये कुछ बीते लम्हो की स्याही,
कभी कभी ज़िन्दगी फिर से लिखने का मन करता है ।।


उम्र से मत नाप तजुर्बा मेरा,
किस्मत से नहीं म्हणत से बुलंद हे हौसला मेरा ।।


बिना मंज़िल के जीना आसान होता है,
ज़िन्दगी में हर कोई परेशां होता है,
सपनो से समझौता करने वालो को कुछ नहीं मिलता,
जो लड़ते है अपनी परेशानियों से उन्ही के कदमो में जहाँ होता है ।।


कोहिनूर सा चमकेगा एक दिन हर ख्वाब मेरा,
संघर्षो की खदानों में अभी खुदाई जारी है ।।


लाखो ठोखरो के बाद भी संभालता रहूँगा,
गिरता उठूंगा मगर चलता रहूँगा ।।


कोई ना मुमकिन सी बात को मुमकिन करके दिखा,
खुद ही पहचान लेगा जमाना, तू भीड़ से अलग चलकर तो दिखा ।।


कोट्स इन हिंदी फॉर लाइफ

जो गुज़री ना जा सके हमसे,
हमने वो ज़िन्दगी गुज़री है ।।


अगर जीवन में दुःख लम्बे समय से चल रहा हे तो,
विश्वास रख, सुख भी देर तक साथ चलेगा ।।


रोते हे हम भी ऐसा नहीं है,
बस सड़क पर तमाशा करने की आदत नहीं है ।।


ज़िन्दगी परेशां हे कुछ पाने को कहती है,
इधर खाली जेब मर जाने को कहती है,
मैं गाँव छोड़ कर शहर कुछ कमाने को आया था,
यहाँ माँ की याद घर लौट आने को कहती है ।।


सारी चमक पसीने की हे साहब,
विरासत में हमें कोई तिजोरियां नहीं मिली ।।


सफलता चाहे जितनी मिले,
पाँव ज़मीं पर होने चाहिए,
संघर्ष करते करते पहुंचा यहाँ तक,
निगाहे मंज़िल पर नहीं, राह पर होनी चाहिए ।।


अपने बाप के पेसो पर ना उड़ते थे ना उड़ते हे,
ना ही उड़ेंगे,
जब खुद कमायेंगे तो आसमानो की सेर करेंगे ।।


संघर्ष थकता ज़रूर है,
लेकिन हमें बहार से सुन्दर,
और अंदर से मज़बूत बनता है ।।


ज़िन्दगी में अगर कुछ बुरा हो तो सब्र करो,
क्यों की रो कर फिर हसने का मज़ा ही कुछ और है ।।


मुसीबतो ने किया फिर करारा प्रहार है,
पर मेने भी अभी तक नहीं मानी हार है,
करेंगे खुल कर मुसीबतो का सामना,
अब तो यह जंग इस पार या उस पार है ।।


हर तूफान ज़िन्दगी को मुश्किल बनाए के लिए नहीं आता,
कभी कभी इससे रास्ते भी साफ़ होते है ।।


गोल्डन कोट्स इन हिंदी

अब में आहिस्ता आहिस्ता समझ रहा हूँ,
की लोग पंखे से क्यों लटक जाते है ।।


राह की धुप मेरे काम आई,
छाँव होती तो सो गया होता ।।


विरासत से तय नहीं होते,
सियासत के रस्ते,
मेहनत तय करती है,
आसमान किसका है ।।


मुझे तो अब यह समझ नहीं आ रहा है, की ज़िन्दगी में परेशानी चल रही है,
या फिर परेशानी में ज़िन्दगी ।।


सुबह के टाइम तीन लोग ही उठते है,
माँ मेहनत और मजबूरिया ।।


मंजिल अभी दूर है,
सफर भी कुछ काम नहीं,
यूँ तो कबका थक चूका होता में,
मगर माँ की दुआ भी किसी पेनकिलर से कम नहीं ।।


भीड़ से हटकर चलना होगा,
हर मुश्किल से लड़ना होगा,
यूँ ही नहीं मिलती सपनो की वो मंज़िल,
बहुत कुछ सैक्रिफाइस तुझे करना होगा ।।


मंज़िल चाहे कितनी भी ऊँची क्यों ना हो,
रास्ते हमेशा पैरों के निचे हो होते है ।।


हर दिन यहाँ एक जंग है,
हर रात यहाँ एक लड़ाई है,
महंगाई खून की प्यासी है,
और निहत्थी मेरी कमाई है ।।


अब तो मेने भी पैसा कामना शुरू किया है,
अब तो दोस्ती करोगे न हमसे ।।


हमसे यह मत पूछो हमने क्या क्या देखा है,
चाँद रुपयों के खातिर ईमान बिकते देखा है ।।


भरोसा और पैसा
दोनों हो पक्षी के तरह होते है,
अगर दोनों में से एक भी उड़ जाये,
तो दूसरा अपने आप उड़ जाता है ।।


यह भी पढ़े : 


Leave a Reply

Your email address will not be published.