Advertisements

Start your own Blog Now

wo kisi aur se pyaar karte hai shayari | वो किसी और से प्यार करते है शायरी

wo kisi aur se pyar karte hai shayari :- हेलो दोस्तों तो कैसे है आप सभी उम्मीद है बढ़िया होंगे।
दोस्तों हमें जब भी अपने टूटे हुए दिल की फरियाद करनी होती है. तो Wo Kisi Aur Se Pyar Karte Hai Shayari के सिवा अच्छा टॉपिक और क्या हो सकता है।
कुछ इन्हीं खयालों को आज हम बेवफा शायरियों की मदद से पेश करने जा रहे हैं. हमें यकीन है कि आपको हमारी यह पेशकश ज़रूर पसंद आएगी।
तो आइए दोस्तों, अपने मन में दबे हुए वो किसी और से प्यार करते है शायरी की यादों इज़हार करें और हमे उम्मीद है आपको हमारी यह शायरी वो किसी और से प्यार करते है ज़रूर पसंद आएगी। तो चलिए दोस्तों शुरू करते है राहत इन्दोरी शायरी की एक और बेहतरीन शायरी और आप यह अपने सोशल मीडिया के स्टेटस पर ज़रूर लगाएंगे तो बिना किसी देरी के दोस्तों शुरू करते है।

वो किसी और से प्यार करते है शायरी, bewafai shayari, dard bhari shayari bewafai,
mohabbat me bewafai shayari, प्यार में धोका शायरी, pyar ki bewafai shayari, hindi shayari bewafai wala, wo kisi aur se pyaar karte hai shayari

༺═──────────────═༻

wo kisi aur se pyaar karte hai shayari|वो किसी और से प्यार करते है शायरी

༺═──────────────═༻

karti hu me tujhpe
apni jaan nisar..
lekin tu karta
kisi aur se pyar..!

करती हूं मैं तुझपे अपनी जान निसार..
लेकिन तू करता किसी और से प्यार..!

यह भी पढ़े :- अपनों से धोका शायरी 

༺═──────────────═༻

dil me vo hamare rehte the aur
sapne kisi aur ke dekhte the..
hamari khushiyon ki khatir vo
unse judaai bardasht karte the..

दिल में वो हमारे रहते थे और
सपने किसी और के देखते थे..
हमारी ख़ुशियों की खातीर वो
उनसे जुदाई बर्दाश्त करते थे..

༺═──────────────═༻

kisse karu shikayat
ab uski bewafai per..
meri chahat ke fool
bikherti vo kisi aur per..

किससे करूं शिकायत अब उसकी बेवफाई पर..
मेरी चाहत के फूल बिखेरती वो किसी और पर..

༺═──────────────═༻

bade pyar se main tere liye
sardi mein sweater bun rahi thi..
kya pata tha mujhe koi dusri
tere liye haay garmi song sun rahi thi..

बड़े प्यार से मैं तेरे लिए सर्दी में स्वेटर बुन रही थी..
क्या पता था मुझे कोई दूसरी तेरे लिए हाय गर्मी सॉन्ग सुन रही थी..

༺═──────────────═༻

dard bhari shayari bewafai

༺═──────────────═༻

karta nahin aajkal
vo mujhse baat bhi..
shayad khush hai vo
kisi aur ke sath hi..

यह भी पढ़े :- इंतज़ार शायरी

करता नहीं आजकल वह मुझसे बात भी..
शायद खुश है वो किसी और के साथ ही..

༺═──────────────═༻

hamen unse pyar ho gaya
unhen kisi aur se ho gaya..
to bus hamari ijaajat se
vo kisi aur ka ho gaya..

हमें उनसे प्यार हो गया उन्हें किसी और से हो गया..
तो बस हमारी इजाज़त से वो किसी और का हो गया..

༺═──────────────═༻

tere liye mere dil mein
khumar chal raha tha..
sar pe tere kisi aur ka
bukhar chadh raha tha..

तेरे लिए मेरे दिल में खुमार चल रहा था..
सर पे तेरे किसी और का बुखार चढ़ रहा था..

༺═──────────────═༻

bahon mein le le mujhe,
meri sanse rukne se pahle..
apna bana le mujhe
kisi aur ka hone se pahle..

बाहों में ले ले मुझे, मेरी सांसे रुकने से पहले..
अपना बना ले मुझे किसी और का होने से पहले..

༺═──────────────═༻

mohabbat me bewafai shayari

༺═──────────────═༻

batao kya kami thi mujhme
jo tujhe vo ladki pasand aayi..
yad hai jab bhi tujhe chot lagi
to idhar meri aankhe bhar aayi..!

यह भी पढ़े :- इमोशनल शायरी 

बताओ क्या कमी थी मुझमें जो तुझे वो लड़की पसंद आई..
याद है जब भी तुझे चोट लगी तो इधर मेरी आंखे भर आई..!

༺═──────────────═༻

teri yado ki bandishe tutti nahin
aankho se ye barsat rukti nahin..
dekha tujhe kisi aur ke sath ab
jindagi mujhe jindagi lagti nahin..

तेरी यादों की बंदिशें टूटती नहीं आंखों से ये बरसात रुकती नहीं..
देखा तुझे किसी और के साथ अब जिंदगी मुझे जिंदगी लगती नहीं..

༺═──────────────═༻

mere naseeb mein aaya
yeh bewafai ka kaisa dastur..
jisko chaha vo kisi
aur ke liye hai mujhse dur..

मेरे नसीब में आया यह बेवफ़ाई का कैसा दस्तूर..
जिसको चाहा वो किसी और के लिए है मुझसे दूर..

༺═──────────────═༻

sikhne mohobbat ki tarkeeb
tune tution mere pass lagai..
kisi dusre ke liye thi teri chahat
idhar maine sirf teri aas lagayi..

सीखने मोहब्बत की तरकीब तूने ट्यूशन मेरे पास लगाई..
किसी दूसरे के लिए थी तेरी चाहत इधर मैंने सिर्फ तेरी आस लगाई..

༺═──────────────═༻

प्यार में धोका शायरी

༺═──────────────═༻

masroof hai mera dil yahan
tutne ke liye adhir..
kisi aur ki chahat mein
vahan hai vo mashhur..

मसरूफ़ है मेरा दिल यहां टूटने के लिए अधीर..
किसी और की चाहत में वहां है वो मशहूर..

༺═──────────────═༻

yaar ek sawal puchna tha tumse
aisa kya tha usme jo mujhme na mila..
aankhe thi sundar ya hasin thi muskurahat
kya tha aisa ki tune diya mujhe yah sila..

यार एक सवाल पूछना था तुमसे
ऐसा क्या था उसमें जो मुझ में ना मिला..
आंखें थी सुंदर या हसीं थी मुस्कुराहट क्या था
ऐसा की तूने दिया मुझे ये सिला..

༺═──────────────═༻

main faqat tere hi pyar mein
itni andhi ho chuki thi..
koi aur tujhe chah rahi
iski bhanak mujhe nahin lagi thi..

मैं फ़कत तेरे ही प्यार में इतनी अंधी हो चुकी थी..
कोई और तुझे चाह रही इसकी भनक मुझे नहीं लगी थी..

༺═──────────────═༻

chala gaya mere
dil se bahut dur hai..
kisi aur ki
chahat mein ab choor choor hai..

वो चला गया मेरे दिल से बहुत दूर है..
किसी और की चाहत में अब चूर चूर है..

༺═──────────────═༻

pyar ki bewafai shayari

༺═──────────────═༻

unke dil me, main nahin koi aur basta hai
is baat se aakhir kya fark padta hai..
pyar mera unki haa ka mohtaj nahin hai
vo bus us chehre ki hasi me basta hai..

उनके दिल में, मैं नहीं कोई और बसता है
इस बात से आख़िर क्या फर्क पड़ता है..
प्यार मेरा उनकी हां का मोहताज नहीं है
वो बस उस चेहरे की हँसी में बसता है..

༺═──────────────═༻

chahat mein ham unki
har lamha taraste rahe..
vo na jane pyar
bankar kahan baraste rahe..

चाहत में हम उनकी हर लम्हा तरसते रहे..
वो न जाने प्यार बनकर कहा बरसते रहे..

༺═──────────────═༻

mera pyar thukra ke kehte he
kisi aur se pyar hai mujhe..
ham tab bahut yaad aayenge
jab vo thukrayega tujhe..

मेरा प्यार ठुकरा के कहते है किसी और से प्यार है मुझे..
हम तब बहुत याद आएंगे जब वो ठुकरायेगा तुझे..

༺═──────────────═༻

rote rahe ham har
waqt jinki yaad mein..
mangte nahin ab
vo hame fariyad mein..

रोते रहे हम हर वक्त जिनकी याद में..
मांगते नहीं अब वह हमें फरियाद में..

༺═──────────────═༻

vo apna hokar bhi apna na hua..
jaane kyon ye dil us per kurban hua..

वो अपना होकर भी अपना न हुआ..
जाने क्यों ये दिल उस पर कुर्बान हुआ..

༺═──────────────═༻

hindi shayari bewafai wala

༺═──────────────═༻

manta tha mai vo
rahegi meri hi sada..
magar bhul gaya hai
vo mujhse kiya wada..

मानता था मैं वो रहेगी मेरी ही सदा..
मगर भूल गया है वो मुझसे किया वादा..

༺═──────────────═༻

mere hokar bhi vo kisi aur se wafa nibhate rahe
ek ham the jo un per apni jaan lutate rahe..
dil o jaan se jise chaha usne hi dhokha diya
ham jane anjane hi khud ko bandi banate rahe..

मेरे होकर भी वो किसी और से वफ़ा निभाते रहे
एक हम थे जो उन पर अपनी जान लुटाते रहे..
दिल ओ जान से जिसे चाहा उसने ही धोखा दिया
हम जाने अनजाने ही खुद को बंदी बनाते रहे..

༺═──────────────═༻

mere adhure mukaddar se
mujhe ab shikayat nahin..
chahte nahin tum
mujhe to koi baat nahin..

मेरे अधूरे मुकद्दर से मुझे अब शिकायत नहीं..
चाहते नहीं तुम मुझे तो कोई बात नहीं..

༺═──────────────═༻